डीएम एवं एसएसपी ने मौहर्रम एवं श्रावण मास में पड़ने वाले त्योहारों के दृष्टिगत भ्रमण कर व्यवस्थाओं का लिया जायजा

Dr. Bhishm Vrat Yadav | अलीगढ़ | 10

सिद्धपीठ खेरेश्वर महादेव मन्दिर के मुख्य द्वार पर हो रहे जलभराव की निकासी एवं नाली सफ़ाई सुनिश्चित करने के दिए निर्देश, जुलूस एवं ताजिया मार्ग का पैदल भ्रमण कर व्यवस्थाओं को परखा

मौहर्रम एवं श्रावण मास में पड़ने वाले त्योहारों को लेकर जिला व पुलिस प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है। आगामी पर्व एवं त्योहारों के दौरान किसी भी प्रकार की अव्यवस्था से बचने के लिए वरिष्ठ पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी शांति समिति की बैठकों से लेकर क्षेत्रीय भ्रमण कर व्यवस्थाओं को अंतिम रूप देने में लगे हुए हैं। 
इसी क्रम में जिला मजिस्ट्रेट विशाख अय्यर एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन  द्वारा बुधवार को ताजिया मार्ग का  एवं प्राचीन सिद्धपीठ खेरेश्वर महादेव मन्दिर पहुॅचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया गया। भ्रमण के दौरान अधिकारियों ने करबला की ओर जाने वाले जुलूस एवं ताजिया मार्ग का पैदल भ्रमण कर व्यवस्थाओं को परखा। 
जिला मजिस्ट्रेट ने मुतवल्ली मुख्तार जैदी एवं पीस कमेटी के सदस्यों से वार्ता करते हुए कहा कि किसी भी आकस्मिक दुर्घटना से सुरक्षित रहने के लिए ताजियों की ऊॅचाई सीमित रखी जाए। उन्होंने उपस्थित नगर निगम एवं विद्युत विभाग के अधिकारियों को साफ सफाई , सड़क मरम्मत एवं तारों को ठीक कराने के कार्य का समयबद्ध रूप में सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। 

डीएम ने प्राचीन सिद्धपीठ खेरेश्वर महादेव मन्दिर पहुॅचकर मन्दिर के मुख्य द्वार पर हो रहे जलभराव की निकासी एवं नाली सफ़ाई सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए डीपीआरओ, बीडीओ एवं समिति के सदस्यों को आपसी तालमेल के साथ सोखपिट बनाए जाने और साफ सफाई सुनिश्चित के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सोखपिट से जहां जलभराव की समस्या से निजात मिलेगी वहीं भूमिगत जल भी रिचार्ज होगा। सावन माह में आने वाले श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की कठिनाई हो तो वह स्थानीय एसडीएम सहित अन्य समस्त विभागीय अधिकारी सुनिश्चित करें। 

इस अवसर पर एसएसपी संजीव सुमन, एडीएम सिटी अमित कुमार भट्ट, एडीएम न्यायिक अखिलेश कुमार, एसपी सिटी मृगांक शेखर पाठक, सिटी मजिस्ट्रेट राम शंकर, एसडीएम दिग्विजय सिंह समेत पीडब्लूडी एवं एनएचएआई के अधिकारीगण उपस्थित रहे।